Posts

Showing posts from July 16, 2018

सिद्ध ज्वर नाशक कल्पचुर्ण

Image
सिद्ध आयुर्वेदिक                   सिद्ध ज्वर नाशक कल्पचुर्ण
                       ★पुराना बुखार★
                      कोई भी पीलिया हो            *◆हर प्रकार की इन्फ़ेक्सन के लिए◆*
           *निमोनिया के लिए कारगर  नुस्खा*
*सफ़ेद रक्त कोशिकाएं( wbc) बढ़ी या घटी हो 30 घंटे में समान्य हो जाती है।* पुराने बुखार या 6 दिन से भी ज्यादा समय से चले आ रहे बुखार के लिए गिलोय काढ़ा उत्तम औषधि है। ●●●
             ★अज्ञात कारणों से बुखार★ ऐसा बुखार जिसके कारणों का पता नहीं चल पा रहा हो उसका उपचार भी गिलोय  काढ़ द्वारा संभव है। पुररीवर्त्तक ज्वर/Typhus fever में गिलोय की चूर्ण तथा उल्टी के साथ ज्वर होने पर गिलोय का  काढ़ा शहद के साथ रोगी को दिया जाना चाहिए। ★★★                    ★काढ़ा कैसे बनाए★ 6 ग्लास पानी लेकर आग पर रख दे।
उसमे नीचे लिखी सामग्री डाले ★ गिलोय हरी 100 ग्राम
★किसमिश 10 पीस
★छुहारे 5 पीस
★तुलसी पत्ते 50 पीस
★पपीता पत्ता 1पीस
★शहद 5 चम्मच सभी सामग्री को तब तक उबाले जब तक आधा न रह जाए। 3 ग्लास बाकी बचा काढ़ा ठण्डा होने पर
1 ग्लास सुबह
1 दुपहरी
1 शाम को ले। यह क्रिया 3 दिन लगातार कर…